pollution essay in Hindi: प्रदूषण पर निबंध

0
485

pollution in Hindi: प्रदूषण एक ऐसा शब्द है जिसका मतलब  पर्यावरण के दूषित होने से है, जिसका मानव के जीवन पर बहुत ही बुरा असर पड़ता है। pollution यानि प्रदुषण मानव के द्वारा हो रहा है जो प्रकृति के साथ-साथ सबसे ज्यादा मानव जीवन के लिए ही खतरनाक है। प्रदूषण का मुख्य कारण औद्योगिकीकरण, वनों की कटाई करना, अपशिष्ट पदार्थों का जल में मिलना आदि। pollution कई तरह का हो सकता है जिसे वायु प्रदुषण, जल प्रदूषण, ध्वनि प्रदूषण, भूमि प्रदूषण,  रेडियो प्रदूषण, प्लास्टिक प्रदूषण, प्रकाश प्रदूषण कहा जाता है।

Short and long Essay On Pollution in Hindi

 pollution in hindi essay भारत में प्रदूषण एक बड़ा पर्यावरणीय मुद्दा है जिस पर काम करने की बहुत आवश्यकता है और इसकी जानकारी सभी लोगों को होना चाहिए।

जो भी बच्चे स्कूल में पढ़ते हैं वे लोग अक्सर इंटरनेट पर Pollution Essay Hindi में सर्च करते हैं। वैसे तो ऐसे बहुत से website हैं जो इस मुद्दे पर Essay उपलब्ध कराती है लेकिन इसके बाद भी छात्रों को सही जानकारी नहीं मिल पाती। इस पेज पर हम आपको सभी क्लास (Class 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11, 12) में पढने वाले स्टूडेंट्स के लिए  Pollution पर essay हिंदी में उपलब्ध करा रहें हैं।

Short Essay On Pollution in Hindi 100 words

प्रदूषण का मतलब होता है प्राकृतिक वातावरण में प्रदूषकों का मिल जाना। कार्बन डाइऑक्साइड (CO2), कार्बन मोनोऑक्साइड (CO) आदि ऐसी गैस है जो प्रदुषण का मुख्य कारण है। इसके अलावा प्लास्टिक, पॉलिथीन, सीवेज और कई तरह के रसायन जैसे उर्वरक, कारखानों से निकलने वाले अपशिष्ट पदार्थ, वाहनों से निकलने वाला धुआं सभी प्रदुषण का प्रमुख कारण है। प्रदूषण प्रभाव यह होता है कि यह पृथ्वी के प्राकृतिक संसाधनों और जीवन को बहुत नुकसान पहुँचाता है। बढ़ते प्रदुषण की वजह से ही आज कई प्रजातियाँ लुप्त होती जा रही हैं और पारिस्थितिक असंतुलन भी हो रहा है। आज पृथ्वी से प्रदूषण को रोकने के लिए आवश्यक एहतियाती और सख्त कदम उठाना बहुत आवश्यक है।

500 Words Essay on Pollution in Hindi

प्रदूषण एक ऐसा शब्द है जिसके बारे में हम सभी लोग बहुत अच्छी तरह से जानते हैं। लेकिन इसके बाद भी हम ही लोग जाने और अनजाने में पृथ्वी को नुकसान पहुंचाते हैं। आज हम इस तथ्य को स्वीकार करते हैं कि प्रदूषण लगातार बढ़ रहा है। ‘प्रदूषण’ शब्द का अर्थ है किसी भी चीज में किसी भी जहरीले और अवांछित पदार्थ का मिलना। जब हम पृथ्वी पर प्रदूषण के बारे में बात करते हैं, तो हम विभिन्न प्रदूषणों द्वारा प्राकृतिक संसाधनों के दूषित होने का उल्लेख करते हैं। यह सब प्रदुषण मानव की वजह से ही हो रहा है जो कई तरह से पर्यावरण को नुकसान पहुंचा रहें हैं। आज हमें इस इस समस्या से सीधे निपटने पर जोर देने की जरूरत है क्योंकि प्रदूषण हमारी पृथ्वी को गंभीर रूप से नुकसान पहुंचा रहा है और इसके दुष्प्रभाव रोज देखे जा रहें हैं। प्रदूषण पर इस निबंध में यह जानेगे कि प्रदुषण के क्या प्रभाव है और हम इसके कैसे कम कर सकते हैं।

प्रदूषण के प्रभाव

प्रदूषण का धरती पर जीवन की गुणवत्ता पर सीधा असर पड़ता है। सीधे शब्दों में कहें तो प्रदुषण हमारी धरती के लिए दीमक की तरह है जो धीरे धीरे इस नुकसान पहुंचा रहा है। इसे हम कभी नग्न आंखों से नहीं देख सकते। इस समय पर्यावरण में बहुत अधिक प्रदुषण हो चुका है, उदाहरण के लिए, आप हवा में मौजूद प्राकृतिक गैसों को नहीं देख सकते हैं,  इसी तरह आप प्रदुषण को भी नहीं देख सकते। धीरे धीरे हवा में कार्बन डाइऑक्साइड का स्तर बढ़ता जा रहा है जो कि मनुष्यों के लिए बहुत ही ज्यादा खतरनाक है।

कार्बन डाइऑक्साइड का स्तर बढ़ने के ग्लोबल वार्मिंग को बढ़ावा मिलता है।  इसके अलावा औद्योगिक विकास और धार्मिक प्रथाओं के नाम पर पानी भी प्रदूषित होता जा रहा है। इसका परिणाम यह होगा कि एक दिन ऐसा आयेगा कि दुनिया में पीने के पानी की कमी हो जाएगी। जल के बिना मानव जीवन संभव नहीं है।

इस तरह से कचरे को लगातार जमीन पर फेका जा रहा है उसका परिणाम यह होने वाला है कि बहुत जल्द ही मिट्टी भी विषाक्त हो जाएगी और समाप्त हो जाएगी। अगर इस दर पर भूमि प्रदूषण होता रहता है, तो हमें अपनी फसल उगाने के लिए उपजाऊ मिट्टी नहीं मिलेगी। इसलिए, सभी तरह के प्रदूषण को कम करने के लिए गंभीर कदम उठाना चाहिए।

प्रदूषण के प्रकार (प्रदूषण के प्रकार)

  • वायु प्रदुषण- Air Pollution in Hindi
  • जल प्रदूषण- Water Pollution in Hindi
  • मिट्टी प्रदूषण- Soil Pollution in Hindi

प्रदूषण कैसे कम करें- How to Reduce Pollution in Hindi

प्रदूषण के हानिकारक प्रभावों जानने के बाद अब हर किसी को जल्द से जल्द प्रदूषण को रोकने या कम करने के लिए कठोर कदम उठाना चाहिए। वायु प्रदूषण को कम करने के लिए लोग अपने वाहन का इस्तेमाल न करेक सार्वजनिक परिवहन या कारपूल का विकल्प ले सकते हैं। हालांकि यह काफी मुश्किल है लेकिन त्योहारों और समारोहों में पटाखों का उपयोग करने से वायु और ध्वनि प्रदूषण में कमी आ सकती है। इसके साथ ही हम सभी को रीसाइक्लिंग की आदत को अपनाना चाहिए। सभी प्रयुक्त प्लास्टिक महासागरों और भूमि में मिल जाते हैं और उन्हें प्रदूषित करते हैं।

इसलिए जब भी आप पॉलिथीन का इस्तेमाल करें तो उस हर कहीं न फेंके और कोशिश करने कि आप उनका दोबारा इस्तेमाल कर सकें। इसके साथ ही सभी को अधिक से अधिक पेड़ लगाने चाहिए जो कि हानिकारक गैसों को अवशोषित करेंगे और वायु को स्वच्छ बनाएंगे।

प्रदुषण को रोकने के लिए सरकार को भी काम करना पड़ेगा, वे  मिट्टी की उर्वरता बनाए रखने के लिए उर्वरकों के उपयोग को सीमित कर सकते हैं और इसके अलावा उद्योगों से निकलने वाले अपशिष्टों को महासागरों और नदियों में फेंकने से प्रतिबंधित भी कर सकते हैं।

सीधे शब्दों में कहें तो प्रदुषण हम सभी के लिए बेहद खतरनाक है और आगे चलकर इसका परिणाम और भी ज्यादा गंभीर होने वाला है। हर व्यक्ति को प्रदुषण के खिलाफ सख्त कदम उठाना चाहिए।

Short Essay On Pollution in Hindi 200 words

परिचय

प्रदूषण आज हमारे पर्यावरण के स्वास्थ्य के साथ-साथ पृथ्वी, वनस्पतियों और जीवों के लिए बहुत बड़ी समस्या बन गया है। प्रदूषण एक कारक है जिसका प्राकृतिक संसाधनों सहित पर्यावरण पर बहुत ही बुरा प्रभाव पड़ता है। प्रदुषण की वजह से प्राकृतिक तत्व को प्रदूषित हो जाते हैं और उपयोग करने के लायक नहीं बचते।

प्रदूषण क्या है?

जब कोई भी प्रदूषणकारी पदार्थ हमारे प्राकृतिक वातावरण में प्रवेश कर इसे दूषित करता है तो हम इसके प्रदुषण का नाम देते हैं। पूरी दुनिया में जितने भी प्रदुषण आज हो रहे हैं वे सभी मानव गतिविधियों के कारण बनते हैं। अगर हम प्रदुषण के उदाहरण कि बात करें तो इसमें परिवहन वाहनों द्वारा जारी कार्बन मोनोऑक्साइड (CO) का वायु में मिलना और इसे दूषित करना, ड़े महासागर लाइनरों द्वारा छोड़े गए तेल के निशान का समुद्र को प्रदूषित करना और जलीय जीवन को नुकसान पहुँचाना जैसी चीजें शामिल हैं।

निष्कर्ष

प्रदूषण दुनिया के सबसे बड़ा खतरा है जिसका सामना आज हमारा पर्यावरण कर रहा है। जैसे जैसे हम तरक्की की ओर बढ़ रहें हैं हम अपने पर्यावरण को लगातार नुकसान पहुंचा रहें हैं  हमें और सरकार को  मिलकर प्रदूषण के खिलाफ सख्त कदम उठाना चाहिए, जिससे कि हमारा पर्यावरण सुरक्षित रहे।

pradushan par nibandh in hindi, pollution essay in Hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here